आपको हमारी वेबसाइट पर अपने दुकान या अन्य किसी भी तरह का विज्ञापन लगवाना हो तो दिए गए नंबर पर तुरंत संपर्क करे - 9424776498,8120293065

Logo
Box slider 4
600x250 whatsup add 1

कमरों की कमी, आठ कमरों में पढ़ रहे हैं 730 छात्र ( रमेश तिवारी की रिपोर्ट )

Box slider 5
600x250 whatsup add 1

प्रयोगशाला उपकरण जगह की कमी से परेशान छात्र 

loading...

राजेंद्रग्राम:-

पुष्पराजगढ़ जनपद अंतर्गत ग्राम भेजरी में संचालित हायरसेकंडरी विद्यालय जिसमें मिडिल स्कूल की कक्षाएं भी संचालित है। मिडिल स्कूल भवन जर्जर एवं क्षतिग्रस्त होने के कारण छात्र हाई स्कूल भवन के तीन कमरों में 252 छात्र-छात्राएं पढ़ रहे हैं। मिडिल स्कूल भवन 2007 में सर्व शिक्षा अभियान अंतर्गत निर्मित कराया गया था जो कई वर्षो से जर्जर है। भवन जर्जर होने के कारण विगत 10 वर्षों से हाई स्कूल में ही मिडिल स्कूल की कक्षाएं संचालित की जा रही है। कमरों की कमी होने के कारण छात्रों की पढ़ाई ठीक ढंग से नहीं हो पा रही है।

कला, विज्ञान, गणित की पढ़ाई एक साथ

हायर सेकंडरी विद्यालय भेजरी जहां नवमी दसवीं ग्यारहवीं बारहवीं की कक्षा में गणित विज्ञान तथा कला संकाय संचालित हैं। वर्तमान समय में 478 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। ऐसे में कमरों की कमी के कारण परेशानियों के बीच विद्यालय का संचालन किया जा रहा है।

प्रयोगशाला लाइब्रेरी अलमारियों में कैद

विद्यालय मे गणित तथा विज्ञान संकाय के विद्यार्थियों के लिए विभाग द्वारा भेजे गए प्रयोगशाला उपकरण लैब के लिए स्वयं का कोई कमरा ना होने के कारण विद्यालय प्रबंधन द्वारा इस कक्ष में विद्यार्थियों को पढ़ाया जा रहा है। साथ ही प्रयोगशाला के उपकरणों को अलमारियों में बंद कर दिए जाने से छात्र-छात्राओं को प्रैक्टिकल से संबंधित जानकारी नहीं मिल पाती है।

Ad 600x250
Box slider 1

नियमित शिक्षकों का अभाव

विद्यालय के कक्षा 11 के छात्र अभिनव चंद्रवंशी ने बताया कि हायर सेकंडरी विद्यालय मे 8 नियमित शिक्षक के पद विभाग द्वारा सृजित किए गए हैं। जबकि विद्यालय में सिर्फ एक नियमित शिक्षक पदस्थ हैं। अतिथि शिक्षक के भरोसे पढ़ाई चल रही है उनकी भी भर्ती प्रक्रिया में देरी की वजह से अगस्त महीने में कक्षाएं प्रारंभ हो पाई हैं। पाठ्यक्रम बिछड़ते जा रहा है साथ ही परीक्षा की तैयारी में विलंब का सामना करना पड़ रहा है।

कक्षा आठवीं की छात्रा कुमारी धनेश्वरी ने बताया की कक्षा 8वी में 88 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। छोटे से कमरे में बैठने की व्यवस्था सभी के लिए नहीं हो पाती है जिसके कारण बरामदे में तथा पीछे खड़े होकर पढ़ना पड़ता है। बरामदे में बैठे बच्चों को शिक्षक अंदर क्लास में जो पढ़ाते हैं समझ में नहीं आता है।

इनका कहना है:-

कमरों की कमी के कारण प्रयोगशाला संचालित नहीं हो पा रही है
इंद्रपाल अहिरवार
प्राचार्य शासकीय हायर सेकंडरी विद्यालय भेजरी

Spread the love
  •  
  •  
Box slider 2
evrest20.06.2019
600x250 whatsup add 1
prabhat auto slaider ad 600X 250
600x250 whatsup add 1

“अब कहे कौन”…..? यातायात ठीक ठाक चल रहा है … आशुतोष सिंह     |     हम देंगे राय होकर प्रफुल्लित अब कहे कौन…….? (आशुतोष सिंह)     |     विकास के नाम पर प्रकृति से खिलवाड, कांक्रिट के चंगुल मे अमरकंटक (आशुतोष सिंह की रिपोर्ट)     |     राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती मनाई गई ( रमेश तिवारी की रिपोर्ट )     |     घट स्थापना के साथ शारदीय नवरात्रि प्रारम्भ ( रमेश तिवारी की रिपोर्ट )     |         |     मध्यप्रदेश राजस्व अधिकारी संघ ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर एवं बिधायक को सौपा ज्ञापन (पुष्पेंद्र रजक की रिपोर्ट)     |     खेल शिक्षक को दी गयी भावभीनि बिदाई (पुष्पेंद्र रजक की रिपोर्ट)     |     गुरु आश्रम पर बेजा कब्जा, हटाये जाने को लेकर साध्वी ने सौंपा ज्ञापन ( पूरन चंदेल की रिपोर्ट )     |     कमरों की कमी, आठ कमरों में पढ़ रहे हैं 730 छात्र ( रमेश तिवारी की रिपोर्ट )     |    

error: Content is protected !!
Website Design: SMC Web Solution - 8770359358